गौरक्षा की आड़ में गुण्डागर्दी बर्दाश्त नहीं — एस.डी.पी.आई.
===============================

13 अगस्त कानपुर, आज शाम 7:30 बजे मर्चेन्ट चैम्बर हाल सिविल लाइंस, मे, सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी औफ़ इंडिया का भीड़ द्वारा पीट पीट कर मार डालने व कानून अपने हाथ में लेनें के ख़िलाफ़ एक सेमिनार का आयोजन किया गया जिसमें एस.डी.पी.आई के कार्यकर्ताों के अलावा बड़ी तादाद में शहर के लोगों ने हिस्सा लिया सेमिनार का प्रारंभ प्रदेश अध्यक्ष मो कामिल ने अपने अध्यक्षी भाषण से किया,राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एडवोकेट शरफ़ुद्दीन ने सम्बोधित करते हुए कहा कि गोरक्षा के नाम पर खुली गुंडागर्दी करने वाले सभ्य समाज में बर्दाश्त नहीं है मुम्बई से आये विशेष अतिथि श्री वी. जी. कोलसे पाटिल पूर्व जस्टिस मुम्बई ने अपने सबोधन में लोगों से कानून को सर्वोपरि कायम रखने की अपील करते हुए कहा कि अपने ही देश के बाशिंदों के बीच नफ़रत पैदा करने वाले तत्व कभी देशभक्त नहीं हो सकते ।
विश्व विख्यात धर्मगुरु मौलाना सज्जाद नोमानी जी ने कहा कि विविधता में एकता की हिन्दुस्तानी तहज़ीब व भारत की सेकुलर छवि को धूमिल करने वाले तत्वों के चेहरे से पर्दा हटता जा रहा है, संविधान पर भरोसा रखने वाले करोड़ों हिन्दुस्तानी मुट्ठी भर नफ़रत के सौदागरों को कभी कामयाब नहीं होने देंगे ।
वक्ताओं में एस.डी.पी.आई राष्ट्रीय महासचिव मो. शफ़ी, एड. रामसिंह यादव क़ाज़ी शहर आलम रज़ा नूरी व अबदुल क़ुद्दूस हादी, देव कुमार, मनोज वाल्मीकि, आल इंडिया इमाम कौंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना अहमद बेग ने भी संबोधित किया.
सेमिनार में स्वागत प्रदेश उपाध्यक्ष मो. सलीम संचालन ख़ुर्शीद अली जामी ने किया व अन्त में प्रदेश महासचिव सरवर आलम ने सभी मेहमानों का का धन्यवाद किया